देश की तीसरी कॉरपोरेट ट्रेन का ट्रायल आज | महाकाल एक्सप्रेस || वाराणसी समाचार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आगमन से पहले रेल प्रशासन काशी-महाकाल एक्सप्रेस ट्रेन को पूरी तरह तैयार रखना चाहता है। इसलिए आज 14 फरवरी को पहला ट्रायल होने जा रहा है। देश की तीसरी कॉरपोरेट ट्रेन को परखने के लिए तकनीकी विशेषज्ञों की टीम सुल्तानपुर तक सफर करेंगे। इस दौरान 130 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से ट्रेन को दौड़ाया जाएगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आगमन से पहले रेल प्रशासन काशी-महाकाल एक्सप्रेस ट्रेन को पूरी तरह तैयार रखना चाहता है। इसलिए आज 14 फरवरी को पहला ट्रायल होने जा रहा है। देश की तीसरी कॉरपोरेट ट्रेन को परखने के लिए तकनीकी विशेषज्ञों की टीम सुल्तानपुर तक सफर करेंगे। इस दौरान 130 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से ट्रेन को दौड़ाया जाएगा।  अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस यह ट्रैन ट्रायल के लिए दोपहर तीन बजे प्लेटफार्म नंबर सात सेरवाना होगी। इस दौरान उत्तर रेलवे के सभी मुख्य अधिकारी औरकैंट स्टेशन निदेशक आनंद मोहन मौजूद रहेंगे। इस ट्रेन में  तृतीय श्रेणी के 12 कोच लगें है, सुरक्षा के लिए सीसीटीवी कैमरे लगे हैं, स्मोक अलार्म भी लगाया गया है जो पहले ही सुरक्षा कर्मियों को सतर्क कर देगा, आरामदायक सफर कराने के साथ ही शुद्ध शाकाहरी भोजन परोसना प्राथमिकता है, भोजन पकाने के लिए फ़िल्टर वाटर  इस्तेमाल किया जाएगा। ट्रेन में ही पेंट्रीकार है जिसकी सफाई फाइव स्टार जैसी होगी|काशी-महाकाल एक्सप्रेस हफ्ते में तीन दिन चलेगी,ये सुबह 10.55 बजे इंदौर से रवाना होकर अगले दिन सुबह 5 बजे वाराणसी पहुंचेगी|
 बनारस से सवार होने वाले यात्रियों को  वाराणसी से इंदौर का सफर तय करने के लिए  1951 रुपये देना होगा| वहीं इंदौर से बनारस वापसी का किराया अपडेट नहीं किया गया है। वाराणसी से इंदौर के बीच इस ट्रेन के रूट में पडऩे वाले अन्य स्टेशनो का किराया अलग-अलग है। इसमें प्रयागराज का 737, लखनऊ का 679, कानपुर का 980, उज्जैन का 1803 तथा इंदौर का किराया 1951 रुपये तय किया गया है। ट्रेन  से जुड़ी सारी जानकारी आइआरसीटीसी ने  अपनी वेबसाइट पर अपलोड कर दिया गया है