देश के लिए अच्छी खबर सफल रहा प्लाज्मा परिक्षण | कोरोना वायरस का कहर |

देश में कोरोना वायरस का कहर लगातार जारी है हालाँकि यूपी के कई जिलों में कोरोना वायरस से थोड़ी राहत है लेकिन कई और ऐसे जिले है जहा पर संक्रमण घटने की बजाय बढ़ता जा रहा है | दिल्ली का भी हाल ठीक नहीं है वह पर भी कोरोना का संक्रमण बढ़ता जा रहा है लेकिन इन सबके बीच एक अच्छी खबर सामने आ रही है दरसअल कोरोना वायरस का पहला प्लाज्मा परीक्षण देश में सफल रहा ।

देश के लिए अच्छी खबर सफल रहा प्लाज्मा परिक्षण | कोरोना वायरस का कहर |

 

दिल्ली के ही एक 49 साल के कोरोना पॉजिटिव मरीज की प्लाज्मा थेरेपी दी गई थी इसके बाद अब हालत में काफी सुधार आया है साथ ही उसकी दो रिपोर्ट निगेटिव आ गई  हैं। बतादे दिल्ली के एक प्राइवेट अस्पताल का कहना है की 4 अप्रैल को एक कोरोना पॉज़िटिव मरीज को यहाँ पर भर्ती कराया गया है । उसी  समय से उस मरीज का इलाज किया जा रहा था लेकिन इलाज के बावजूद कोई सुधर नहीं हुवा बल्कि रोज उनकी हालत बिगड़ती जा रही थी।इसी वजह से मरीज को वेंटिलेटर पर रख दिया गया था।उसके बाद भी जब हालत नहीं सुधरी तब मरीज के परिवार ने प्लाज्मा थेरेपी का अनुरोध किया।और 14 अप्रैल को उपचार के रूप में ताजा प्लाज्मा दिया गया। जिसके बाद मरीज में लगातार सुधार होता दिख रहा है| 18 अप्रैल की सुबह वेंटीलेटर से मरीज को हटा दिया गया |  

बता दे अस्पताल ने अभी हाल ही में प्लाज्मा तकनीक का ट्रायल शुरू किया था। इसमें कोरोना से ठीक हो चुके लोगों का प्लाज्मा संक्रमित व्यक्ति पर चढ़ाया जाता है।
आप को बता दे विशेषज्ञों के अनुसार एक व्यक्ति के खून से अधिकतम 800 मिलीलीटर प्लाज्मा लिया जा सकता है।

और वहीं, कोरोना मरीज के शरीर में एंटीबॉडीज डालने के लिए 200 मिलीलीटर प्लाज्मा चढ़ाते हैं।