दवा कारोबारी में कोरोना मिलने के बाद वाराणसी में बढ़ गए आठ हॉटस्पॉट

कुछ दिन पहले ही वाराणसी में दवा कारोबारी में कोरोना मिलने से अफरातफरी मच गई थी। इसके बाद 7 पुलिस कर्मियों में भी कोरोना मिला था जिसके बाद वाराणसी को पूरी तरह बंद कर दिया गया था। अब जब 17 मई तक lockdown को बड़ा दिया गया है

दवा कारोबारी में कोरोना मिलने के बाद वाराणसी में बढ़ गए आठ हॉटस्पॉट

 

उस बीच सूबे में रेड जोन में आने वाले जिले में वाराणसी को भी शामिल किया गया है।  वाराणसी में मंडुवाडीह थाना क्षेत्र में संक्रमित मिले दवा कारोबारी के कारण शहर में आठ इलाके हॉटस्पॉट बन गए हैं। उसके क्षेत्र मड़ौली के अलावा उसके यहां काम करने वाले कर्मचारियों, उसके ग्राहकों के भी संक्रमित होने के बाद अन्य इलाकों को सील कर पाबंदियां लगा दी गई हैं। 

दवा कारोबारी के कारण संक्रमित हुए लोगों का इलाका चंदौली के बगल में गंगापार रामनगर के सूजाबाद तक पहुंच चुका है। राहत की बात इतनी है कि उसके संपर्क में आने वाले पूर्वांचल के अन्य जिलों से किसी के संक्रमित होने की फिलहाल खबर नहीं है। दवा कारोबारी के संपर्क में आने से परिवार के चार सदस्य, चार कर्मचारी, दो पड़ोसी दुकानदार, एक पहड़िया का दवा कस्टमर, एक दवा ट्रांसपोर्टर संक्रमित हुआ है। 

दवा कारोबारी के यहां काम करने वाले कर्मचारियों के संक्रमित मिलने के बाद से सप्तसागर मंडी, मृत्युंजय महादेव, चौक के काशीपुरा, छोटी पियरी, पहड़िया की संजयनगर कॉलोनी, सूजाबाद को सील किया जा चुका है। इसके अलावा महमूरगंज के एक अपार्टमेंट को भी कारोबारी के संपर्क में आये ट्रांसपोर्टर के पॉजिटिव मिलने के बाद सील कर दिया गया। 

अभी इसके संपर्क में आये लोगों से जुड़े लोगों की भी पहचानकर उनकी जांच कराई जा रही है। यही नहीं, दवा कारोबारी के बड़ागांव, लोहता स्थित रिश्तेदारों की भी सूची तैयार की गई है, जिनकी जांच कराई जानी है। उधर गंगापार रामनगर के सूजाबाद इलाके को सील कर दिया गया है, जो चंदौली जनपद की सीमा से लगा हुआ है।