कोरोना के मद्देनजर सूबे के योगी सरकार ने उठाये एहतियाती कदम | ZNDM NEWS |

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप  से पूरी दुनिया भयभीत है।जहाँ 1 ओर दुनियाभर में इस घातक संक्रमण से बचने के लिए लोग अलग अलग हथकंडे अपना रहें है वहीं कोरोना वायरस के महामारी घोषित होते ही भारत भी सक्रिय हो गया है। बता दे कि कोरोनावायरस के चलते भारत में अबतक 2 लोगों ने अपनी जान गंवा दी है वहीं 82 लोगो के संक्रमित होने का मामला सामने आया है।जान जाने वालों में पहला मामला कर्नाटक का तो  दूसरा मामला हाल ही में राजधानी दिल्ली में हुए 69 वर्षीय महिला के मौत का है।

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप  से पूरी दुनिया भयभीत है।जहाँ 1 ओर दुनियाभर में इस घातक संक्रमण से बचने के लिए लोग अलग अलग हथकंडे अपना रहें है वहीं कोरोना वायरस के महामारी घोषित होते ही भारत भी सक्रिय हो गया है। बता दे कि कोरोनावायरस के चलते भारत में अबतक 2 लोगों ने अपनी जान गंवा दी है वहीं 82 लोगो के संक्रमित होने का मामला सामने आया है।जान जाने वालों में पहला मामला कर्नाटक का तो  दूसरा मामला हाल ही में राजधानी दिल्ली में हुए 69 वर्षीय महिला के मौत का है। यही नहीं WHO के अनुसार गुरुवार को पूरी दुनिया में 321 लोगों की मौत हो गई ।
बहरहाल कोरोना से बचाव के लिए भारत सरकार व राज्य सरकारों ने भी पूरी एहतियात बरतनी शुरू कर दी है।भारत के विभिन्न राज्यों के स्कूल,कॉलेज व शैक्षणिक संस्थान बन्द कर दिए गए हैं। बताते चलें कि जहां एक और दिल्ली,हरियाणा,जम्मू,श्रीनगर,केरल व बिहार में सभी स्कूल,कॉलेज और विश्वविद्यालयों को 31 मार्च तक बन्द करने का आदेश जारी किया गया वहीं मध्य प्रदेश में अगले आदेश तक स्कूल कॉलेज के साथ सिनेमा हॉल को भी बन्द करने का फैसला लिया गया है।इसके साथ ही उत्तर प्रदेश के भी सभी स्कूल कॉलेज व शिक्षण संस्थान 22 मार्च तक बंद कर दिए गए। सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को लखनऊ में हुए बैठक में कहा कि इस विपदा से निपटने की तैयारी डेढ़ माह पहले से हो रही है जिसके अंतर्गत 24 मेडिकल कॉलेज में 448 बेड रिजर्व रखे गए हैं।उन्होंने यह ब बताया कोरोना के मद्देनजर बेसिक शिक्षा से लेकर उच्च शिक्षा तक के सभी शिक्षा संस्थान 22 मार्च तक बंद रहेगी तत्पश्चात 23 मार्च को समीक्षा के बाद आगे का निर्णय लिया जाएगा।उत्तर प्रदेश में अभी तक 11 संदिग्ध मामले सामने आने की जानकारी दी जिनमें में 7 आगरा,2 गाजियाबाद, 1 नोएडा ,1 लखनऊ का मामला है।इन 11 संक्रमित लोगो मे से 10 को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में देख रेख में रखा गया है वहीं एक मरीज का इलाज लखनऊ के केजीएमयू में चल रहा है। बता दे कि  संक्रमित व्यक्ति के इलाज भी बाधा लाने वाले व्यक्ति या खुद संक्रमित व्यक्ति के के इलाज के प्रति टालमटोल करने पर व्यक्ति के खिसाफ FIR  दर्ज किया जाना भी तय हुआ है।