Corona के खिलाफ देश की लड़ाई में RATAN TATA ने दिए 1500 करोड़ का योगदान - India's Breaking News

देश के वरिष्ठ उद्योगपति रतन टाटा ने टाटा ट्रस्ट और टाटा ग्रुप की ओर से 1,500 करोड़ रुपए खर्च करने का ऐलान किया है

Corona के खिलाफ देश की लड़ाई में RATAN TATA ने दिए 1500 करोड़ का योगदान - India's Breaking News
Corona के खिलाफ देश की लड़ाई में RATAN TATA ने दिए 1500 करोड़ का योगदान - India's Breaking News
Corona के खिलाफ देश की लड़ाई में RATAN TATA ने दिए 1500 करोड़ का योगदान - India's Breaking News
Corona के खिलाफ देश की लड़ाई में RATAN TATA ने दिए 1500 करोड़ का योगदान - India's Breaking News

Corona के खिलाफ देश की लड़ाई में रतन टाटा ने दिए 1500 करोड़ का योगदान

कोरोना वायरस के विकट संकट ने भारत के जनता के  स्वास्थ्य के साथ भारत की अर्थव्यवस्था पर भी भारी चोट की है।आंकड़ों के अनुसार corona वायरस के चलते हुए जनता कर्फ्यू और उसके बाद 21 दिन के लॉक डाउन से देश की अर्थव्यवस्था में निरंतर गिरावट देखा जा रहा है। इन हालातों में भारत सरकार के लिए कोरोना के खिलाफ लड़ाई में काफी चुनौतियाँ सामने आ रही हैं।साथ ही भविष्य में देश में आर्थिक मंदी का भी अनुमान लगाया जा रहा है।ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इन हालातों से निपटने के लिए देश के उद्यमियों से आगे आकर आर्थिक मदद देने की अपील की है।

इस तर्ज पर देश के वरिष्ठ उद्योगपति रतन टाटा ने टाटा ट्रस्ट और टाटा ग्रुप की ओर से 1,500 करोड़ रुपए खर्च करने का ऐलान किया है।यह देश के किसी कॉर्पोरेट की ओर से कोरोना पर अब तक की सबसे बड़ी मदद थी।टाटा ट्रस्ट 500 करोड़ रुपए खर्च करेगा। ट्रस्ट के चेयरमैन रतन टाटा ने शुक्रवार ट्वीट के जरिए  यह जानकारी दी। इसके करीब ढाई घंटे बाद टाटा सन्स ने अतिरिक्त 1,000 करोड़ रुपए की मदद का ऐलान किया। टाटा सन्स यानी टाटा ग्रुप की सभी फर्मों की प्रमोटर और होल्डिंग कंपनी है। टाटा ट्रस्ट के जरिए टाटा ग्रुप परोपकार के काम करता है। टाटा सन्स की 66% हिस्सेदारी टाटा ट्रस्ट के पास ही है।

इस पर टाटा ट्रस्ट के चेयरमैन रतन टाटा ने ट्वीट के जरिए कहां की कोरोनावायरस का संकट हमारी पीढ़ी की सबसे बड़ी चुनौतियों में से एक है। टाटा ग्रुप और समूह की कंपनियां पहले भी देश की जरूरत के वक्त आगे रही हैं।लेकिन, इस समय सबसे बड़ी जरूरत है।मौजूदा हालात में देश और दुनियाभर में तुरंत कदम उठाए जाने चाहिए।