कोरोना के कहर से बचाने के लिए पीएम मोदी की मुहिम | ZNDM NEWS

अंतर्राष्ट्रीय महामारी कोरोना वायरस लगातार विनाशक रूप लेता जा रहा है।इस संक्रमण के प्रकोप से पूरी दुनिया में अफरा-तफरी मची हुई है।वहीं भारत में भी धीमी गति से ही, पर इसका संक्रमण बढ़ता ही जा रहा है।बता दें कि कोरोना संक्रमण के कारण देश में अब तक दिल्ली,#कर्नाटक,#महाराष्ट्र, #पंजाब से 4 लोग और आज ही #राजस्थान में एक और कोरोना मरीज मौत हो चुकी है।

अंतर्राष्ट्रीय महामारी कोरोना वायरस लगातार विनाशक रूप लेता जा रहा है।इस संक्रमण के प्रकोप से पूरी दुनिया में अफरा-तफरी मची हुई है।वहीं भारत में भी धीमी गति से ही, पर इसका संक्रमण बढ़ता ही जा रहा है।बता दें कि कोरोना संक्रमण के कारण देश में अब तक दिल्ली,#कर्नाटक,#महाराष्ट्र, #पंजाब से 4 लोग और आज ही #राजस्थान में एक और कोरोना मरीज मौत हो चुकी है।वहीं संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर अब तक 187 पर आ पहुँची है ऐसे में इस भयावह संक्रमण से बचने के लिए केंद्रीय व राज्य सरकारें पूरी एहतियात बरतने में जुट गई है।

वहीं इस गंभीर समस्या पर खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आगे आकर जनता से एक बड़ी पहल की मांग की है।कोरोना वायरस से बचाव के संदर्भ में अपने राष्ट्रव्यापी #संबोधन में आगामी रविवार यानी 22 मार्च 2020 को सुबह 7 से रात 9 बजे तक 'जनता कर्फ्यू' के तहत लोगो को अपने घरों में ही रहने का आग्रह किया है।#जनता कर्फ्यू जनता के लिए,जनता के द्वारा लगाया गया कर्फ्यू होगा जिसके तहत कोरोना के संक्रमण से बचाव किया जा सके।  पी एम ने भारत की जनता से यह अपील करते हुए कहा कि सभी देशवासी कुछ हफ्ते घर से बाहर ना निकल कर इस संक्रमण से बचने का प्रयास करें।उन्होंने कहा कि अब तक इस संक्रमण का कोई इलाज नहीं निकल पाया है इसलिए इस भयावह संक्रमण के खिलाफ लड़ाई के लिए सभी को कुछ दिनों के लिए संयम और संकल्प के साथ काम करने की जरुरत है।साथ ही उन्होंने प्राइवेट संस्थान,व्यापारियों और उच्च वर्ग से मानवीय संवेदनाशीलता के साथ फैसला लेने और कर्मचारियों के वेतन ना काटने का भी निवेदन किया है। इसके साथ ही उन्होंने केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता में गठित #COVID-19 टास्क फोर्स का हवाला देते हुए आर्थिक पहलू से निपटने के लिए जरूरी कदम उठाने की बात कही।साथ ही उन्होंने जनता को आश्वस्त किया कि खाने-पीने व दवाइयों जैसे जरूरी संसाधनों को उपलब्ध करानेे कि तरफ सरकार द्वारा जरूरी कदम उठाए जा रहें है तब तक के लिए सामान संग्रह करने की होड़ न लगाएं।प्रधानमंत्री ने जनता कर्फ्यू के दौरान केवल डॉक्टर,मीडिया,अस्पतालों व एयरपोर्ट कर्मचारियों को रियायत बरतने की बात कही।इसी कड़ी में ऐसी विपदा की घड़ी में अपने कर्तव्यों का तत्पर निर्वाहन कर रहे देश के सभी डॉक्टरों,सफाई कर्मियों,मीडिया व होम डिलीवरी करने वाले कर्मचारियों की सराहना करते हुए कहा कि जनता कर्फ्यू के दौरान भी रविवार को शाम 5:00 बजे 5 मिनट के लिए घर के दरवाजे या बालकनी से ताली,थाली या घंटी बजा कर इनका धन्यवाद करें।फिर अंत में उन्होंने इस घातक महामारी के बढ़ते जाल को रोकने के लिए जनभागीदारी की मांग की।