कोरोना का कहर -संकट की इस घड़ी में इन हस्तियों ने बढ़ाया मदद का हाथ ,जानिए कौन है ये हस्तिया

देश और दुनिया भर में कोराना का प्रकोप लगातार बढ़ता ही जा रहा है. कोरोना वायरस (Coronavirus) के खिलाफ जंग में हर कोई अपनी-अपनी ओर से योगदान दे रहा है ऐसे में पूर्व भारतीय क्रिकेटर इरफान पठान और उनके भाई यूसुफ पठान ने कोविड-19 महामारी का सामना करने के लिए मानवीय आधार पर 4000 मास्क दान किए हैं। इरफान ने यूसुफ को टैग करते हुए ट्वीट किया, ‘समाज के लिए अपना योगदान कर रहे है। जो भी लोग ऐसा कर सकते हैं कृपया आगे बढ़ें और एक दूसरे की मदद करें, लेकिन भीड़ इकट्ठा ना होने दे। यह एक छोटी सी शुरुआत है उम्मीद है कि हम और अधिक मदद करते रहेंगे

कोरोना का कहर -संकट की इस  घड़ी में इन हस्तियों ने बढ़ाया मदद का हाथ ,जानिए कौन है ये हस्तिया
कोरोना का कहर -संकट की इस घड़ी में इन हस्तियों ने बढ़ाया मदद का हाथ ,जानिए कौन है ये हस्तिया

कोरोना का कहर -संकट की इस  घड़ी में इन हस्तियों ने बढ़ाया मदद का हाथ ,जानिए कौन है ये हस्तिया 

देश और दुनिया भर में कोराना का प्रकोप लगातार बढ़ता ही जा रहा है. कोरोना वायरस (Coronavirus) के खिलाफ जंग में हर कोई अपनी-अपनी ओर से योगदान दे रहा है ऐसे में पूर्व भारतीय क्रिकेटर  इरफान पठान और उनके भाई यूसुफ पठान ने कोविड-19 महामारी का सामना करने के लिए मानवीय आधार पर 4000 मास्क दान किए हैं। इरफान ने यूसुफ को टैग करते हुए ट्वीट किया, ‘समाज के लिए अपना योगदान कर रहे है। जो भी लोग ऐसा कर सकते हैं कृपया आगे बढ़ें और एक दूसरे की मदद करें, लेकिन भीड़ इकट्ठा ना होने दे। यह एक छोटी सी शुरुआत है उम्मीद है कि हम और अधिक मदद करते रहेंगे

वही कुछ दिन पहले भारत की बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधु ने कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में आर्थिक मदद की घोषणा की है. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि मैं तेलंगाना और आंध्र प्रदेश में जारी कोविड19 के खिलाफ लड़ाई में पांच—पांच लाख रुपये मुख्यमंत्री राहत कोष में दे रहीं हूं.

  •  कारोबार जगत से  सबसे पहले हुई अगुवाई

कारोबार जगत से सबसे पहले करने वाले , महिंद्रा ऐंड महिंद्रा समूह के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने मदद के लिए आगे आते हुए रविवार को  उन्होने एक ऐलान किया था कि वह अपनी पूरी सैलरी इसके लिए स्वेच्छा से दान करेंगे. उन्होंने अपने सहयोगियों से भी कोरोना से जुड़े फंड लिए दान करने को कहा. उन्होंने अगले महीनों में और योगदान करने की बात कही थी। 


आनंद महिंद्रा की घोषणा के बाद अब वेदांता ग्रुप के चेयरमैन अनिल अग्रवाल भी आगे ,उन्होने  ट्वीट कर कहा, 'मैं इस महामारी से लड़ाई के लिए 100 करोड़ देने का वचन दे रहा हूं. हमें देश की जरूरत के लिए वचन के तहत यह कर रहे हैं. यह वह समय है जब देश को हमारी सबसे ज्यादा जरूरत है. बहुत से लोग भविष्य को लेकर अनिश्चित हैं और मैं खासकर रोज कमाकर गुजारा करने वालों के लिए चिंतित हूं. हम अपनी तरफ से मदद की पूरी कोशिश करेंगे.

पेटीएम कंपनी ने कोरोना वायरस की दवा विकसित करने के लिए भारतीय रिसर्चर्स को पांच करोड़ रुपये देने की बात कही है. पेटीएम के संस्थापक और सीईओ विजय शेखर शर्मा ने रविवार को ट्वीट किया, 'हमें अधिक संख्या में भारतीय इनोवेटर्स, शोधकर्ताओं की जरूरत है जो वेंटिलेटर की कमी और कोविड के इलाज के लिए देसी समाधान खोज सकें. पेटीएम कोविड संबंधित चिकित्सा समाधानों पर काम करने वाले ऐसे दलों को पांच करोड़ रुपये देगा.

  • विश्व के खिलाड़ी भी मदद को सामने आये 

अगर विश्व के खिलाड़ियों की बात करे तो  स्विट्जरलैंड के स्टार टेनिस खिलाड़ी रोजर फेडरर (Roger Federer) और उनकी पत्नी ने कोरोना वायरस संकट से जूझ रहे अपने देश के लोगों की मदद के लिए बुधवार को सात करोड़ 78 लाख रुपये की धनराशि दान की है। 
एएफपी न्यूज़ एजेंसी , के मुताबिक रोनाल्डो और मेंडिस ने देश के दूसरे सबसे बड़े राज्य पोर्तो के दो अस्पतालों को  तीन आईसीयू देने का ऐलान किया. इन आईसीयू में 10 बेड के साथ-साथ सभी जरूरी चीजें होंगी. यूनिर्वसिटी हॉस्पिटल सेंटर ऑफ नॉर्थन लिसबन को दो और सेटों एनटोनिया हॉस्पिटल को एक आईसीयू दिया जाएगा. पोर्तो के संतो एंटोनियो अस्पताल के डायरेक्टर ने कहा, 'इस समय यह बहुत जरूरी है. हम रोनाल्डो औऱ मेंडिस का शुक्रिया करते हैं. उन्होंने देश के लोगों की मदद की है.' इससे पहले मेंडिस साओ जाओ अस्पताल को 1000 मास्क और दो लाख गाउन दान कर चुके हैं.
बार्सिलोना के लियोनेल मेसी (Lionel Messi) और मैनचेस्टर सिटी मैनेजर पेप गार्डियोला ने कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई के लिए एक मिलियन यूरो (1.08 मिलियन डॉलर) दान दिए थे. अस्पताल के क्लिनिक ने ट्विटर पर लिखा, 'लियोनेल मेसी ने कोरोनो वायरस से लड़ने के लिए क्लिनिक को एक दान दिया. बहुत बहुत धन्यवाद लियो, आपकी प्रतिबद्धता और आपके समर्थन के लिए.'

बांग्लादेश के भी  क्रिकेटरों ने अपनी आधे महीने की तनख्वाह सरकार को देने का फैसला किया है. बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (Bangaldesh Cricket Board) के अनुबंधित 17 क्रिकेटरों समेत कुल 27 क्रिकेटरों ने यह दान देने का फैसला किया.