15 अप्रैल से भारतीय रेलवे मुस्तैद,थर्मल जांच फिर सैनेटाइजिंग टनल से गुजरकर प्‍लेटफार्म पर पहुंचेंगे यात्री  - BREAKING NEWS

सैनेटाइजिंग टनल वर्कशॉप और वाशिंग पिट पर तैयार की जा रही हैं। कुछ तैयार भी हो चुकी हैं। ट्रेनों के चलने की स्थिति में टनल को एक दिन पहले ही प्रवेश द्वार पर फिट कर दिया जाएगा (पढ़ना जारी रखें)

15 अप्रैल से भारतीय रेलवे मुस्तैद,थर्मल जांच फिर सैनेटाइजिंग टनल से गुजरकर प्‍लेटफार्म पर पहुंचेंगे यात्री  - BREAKING NEWS
15 अप्रैल से भारतीय रेलवे मुस्तैद,थर्मल जांच फिर सैनेटाइजिंग टनल से गुजरकर प्‍लेटफार्म पर पहुंचेंगे यात्री  - BREAKING NEWS

15 अप्रैल से भारतीय रेलवे मुस्तैद,थर्मल जांच फिर सैनेटाइजिंग टनल से गुजरकर प्‍लेटफार्म पर पहुंचेंगे यात्री 


कोरोना के चलते लॉकडाउन के बाद का रेलवे स्टेशन बदला-बदला नजर आएगा। यात्रियों को पहले थर्मल जांच करना होगा | इसके बाद यात्रियों की परिचय पत्र की जांच होगी। फिर सैनेटाइजिंग टनल से गुजरना होगा। यात्री पूरी तरह से सैनेटाइज होने के बाद ही प्लेटफॉर्म तक पहुंच पाएंगे। यह व्यवस्था जंक्शन के सभी प्रवेश द्वार पर होगी। इसमें किसी तरह की असुविधा न हो इसके लिए हर गेट पर आरपीएफ-जीआरपी के जवान भी तैनात किए जाएंगे। 

सैनेटाइजिंग टनल वर्कशॉप और वाशिंग पिट पर तैयार की जा रही हैं। कुछ तैयार भी हो चुकी हैं। ट्रेनों के चलने की स्थिति में टनल को एक दिन पहले ही प्रवेश द्वार पर फिट कर दिया जाएगा। यात्रियों को यात्रा के दौरान पूरी तरह से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा। अगर कोई यात्री अपनी बीमारी छुपाता है और ट्रेन के अंदर उसमें खांसी जुकाम, बुखार आदि जैसे कोरोना वायरस जैसे लक्षण पाए जाते हैं तो टीटीई व अन्य रनिंग स्टाफ ऐसी यात्री को बीच रास्ते में ट्रेन रुकवा कर नीचे उतार देगा। और उसको नजदिकी अस्पताल ले जाया जायेगा | 

स्टेशन पर प्रवेश के दौरान रेल यात्रियों को मास्क व दस्ताने दिए जाएंगे इसके बदले रेलवे यात्रियों से कुछ पैसे भी लिए जा सकते है। जब से ट्रैन चलने की खबर आरही है तब से तमाम यात्री ट्रैन की टिकट के लिए प्रयास कर रहे है। 15 अप्रैल को चलने वाली सभी ट्रैन बुक हो गई है इसको देख अब रेलवे भी मुस्तैद हो गया है। रेलवे का प्रयास है की किसी तरह की कोई भी भूल या चूक न हो। हलात को दिखते हुए लोकल ट्रैन को चलाने की कोई जानकारी अभी तक रेलवे ने नहीं दिया है। 15 अप्रैल के बाद ही हलात को देख सरकार आगए का फैसला लेगी।