14 घंटे के जनता कर्फ्यू से भारत जीतेंगा कोरोनावायरस से जंग | जनता कर्फ्यू | कोरोनावायरस

कोरोनावायरस को लेकर देशभर में कई तरह की खबरों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने  गुरुवार को रत ८ बजे खुद  सामने आए और इस वायरस से बचने के लिए कई बातें बताई| पीएम ने देशवासिओं  से सतर्कता बरतने और संयम रखने की अपील की| इसके साथ ही पीएम मोदी ने रविवार 22 मार्च को जनता कर्फ्यू का ऐलान किया है|

कोरोनावायरस को लेकर देशभर में कई तरह की खबरों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने  गुरुवार को रत ८ बजे खुद  सामने आए और इस वायरस से बचने के लिए कई बातें बताई| पीएम ने देशवासिओं  से सतर्कता बरतने और संयम रखने की अपील की| इसके साथ ही पीएम मोदी ने रविवार 22 मार्च को जनता कर्फ्यू का ऐलान किया है|  उन्होंने कहा कि रविवार सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक सभी देशवासियों को जनता कर्फ्यू का पालन करने की अपील की है|
 पीएम ने इस विषय पर मकसद समझाते हुए कहा कि ये 'जनता कर्फ्यू' की सफलता और होने वाले अनुभव, हमें आने वाली चुनौतियों के लिए तैयार करेंगे। मोदी ने राज्यों की सरकारों  से भी आग्रह किया है वे इस जनता कर्फ्यू को सफल बनाने में सहयोग दें।    
लेकिन कई लोगो के मैं में ये सवाल होगा के आखिर ये जनता कर्फ्यू होता क्या है? इस दौरान क्या करना चाहिए, इस दौरान कौन बाहर जा सकता है कौन नहीं ?  इससे क्या लाभ मिलेगा , इन  सभी सवालों के जवाब हम आपको दे रहे हैं?


क्या है ‘जनता कर्फ्यू’?

जनता कर्फ्यू   मतलब हैं कि ये कर्फ्यू जनता द्वारा खुद पर लगाया गया एक प्रतिबंध है| यानी इसके लिए पुलिस या सुरक्षाबलों की तरफ से कोई भी पाबंदी नहीं लगाई जाएगी|  लोग खुद ही अपने  बाहर निकलने से बचेंगे|  सड़क, पार्क,दुकानों ,यहाँ तक की सोसाइटी  में भी निकलने से बचेंगे| हालांकि जो लोक आवश्यक सेवाओं में हैं वो घर से काम के लिए निकल सकते हैं|

ये  ‘जनता कर्फ्यू’ क्यों ? इससे होगा ?

वैज्ञानिक दृष्टिकोण  से देखा जाये तो 24 घंटे का कर्फ्यू वायरस चक्र में एक बैंक साबित होगा | 24 घंटे तक अगर वायरस को इंसानी शरीर नहीं नहीं मिलेंगे तो वातावरण में मौजूद काफी वायरस खुद ख़तम हो जायेंगे | वही हमारी, सड़के,लिफ्ट,रेलिंग ,दरवाजों पर लगा वायरस 24  घंटे में खुद सेनेटाइज़ हो जायेगा और ऐसी जगहों पर गिरा वायरस खुद ही मर्डर जायेगा | जनता कर्फ्यू से वायरस का जीवन चक्र रुक जायेगा ,यह एक ऐसा कदम साबित होगा जिससे ज्यादा से ज्यादा लोगो को इस वायरस से बचाया जा सकेगा |


जनता कर्फ्यू के दौरान कौन घर से निकल सकते है |
जनता कर्फ्यू के दौरान वैसे तो काफी जरूरी काम पड़ने पर कोई भी बाहर निकल सकता है, लेकिन इस दौरान कुछ लोगों को खुद पीएम मोदी ने अपनी सेवाओं में बने रहने की अपील की है. पीएम मोदी ने खासतौर पर डॉक्टरों, सफाईकर्मियों और मीडियाकर्मियों का जिक्र किया| मतलब जनता कर्फ्यू के दौरान ऐसी सेवाएं देने वाले लोगों को घर से निकलना होगा|
ऐसे लोगों की हौसला अफजाई के लिए पीएम मोदी ने देश के हर सदस्य से अपील की है कि रविवार को शाम 5 बजे घर के दरवाजे-खिड़कियों पर खड़े होकर ताली बजा कर , थाली बजा कर या घंटी बजा कर  ऐसे  लोगों का  सम्मान करे उन्हें  धन्यवाद दे | इस कार्यक्रम से उन लोगों का आभार व्यक्त किया जाएगा जो दिन-रात कोरोना वायरस के खिलाफ अपनी जान की परवाह न करते हुए लड़ाई लड़ रहे हैं।